सोमवार, 27 जनवरी 2020

श्री राधामाधव दिव्य देश मन्दिर में दक्षिण भारतीय शैली में मनेगा ब्रह्मोत्सव

0से 0फरवरी तक होंगे विभिन्न धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम


वृन्दावन स्थित श्री राधामाधव दिव्य देश मन्दिर, जिसे नया रंगजी मन्दिर के नाम से भी जाना जाता है, में 0से 0फरवरी तक चतुर्दश श्री ब्रह्मोत्सव मनाया जायेगा। स्वामी अनन्ताचार्यजी महाराज के सान्निध्य में 0दिन चलने वाले इस उत्सव में प्रतिदिन सोने व चाँदी से जड़े चन्द्र प्रभासूर्य प्रभा और गरुड़जी की सवारी पर विराजमान होकर शाम के समय भगवान श्री राधामाधव विशाल मन्दिर परिसर में भ्रमण करेंगे। उत्सव में शामिल होने के लिए दक्षिण भारत से 100 से अधिक विद्वान आचार्य वृन्दावन आयेंगे।


श्री राधामाधव दिव्य देश मन्दिर, वृन्दावन

            मन्दिर प्रबन्धक देवराज तिवारी ने ब्रह्मोत्सव की जानकारी द्रिक पञ्चाङ्ग संवाददाता से साझा की 
मन्दिर के प्रबन्धक देवराज तिवारी ने बताया की ब्रह्मोत्सव कृष्ण भक्ति प्रचार संघ द्वारा आयोजित किया जा रहा है। महोत्सव का शुभारम्भ 0फरवरी को शाम 5 बजे श्री विश्वक्सेन पूजन एवम् अंकुरारोपण के साथ होगा। 0फरवरी को अग्नि प्रतिष्ठाध्वजारोहणदेवता का आवाहन व देवालय की परिक्रमा की जायेगी। 0फरवरी को श्रीमहासुदर्शन हवनबलिहरण व मंगलाशासन होगा। 0फरवरी को भगवान श्री राधामाधव का कल्याणोत्सव मनाया जायेगाजिसमें दक्षिण भारतीय विद्वानों द्वारा भगवान का विवाह संस्कार कराया जायेगा। इस बीच विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। 0फरवरी को नगर में भगवान की रथ यात्रा बैंड-बाजों के साथ निकाली जायेगी। यात्रा में भगवान राधामाधव देशी-विदेशी फूलों से सजे रथ में विराजमान होकर मन्दिर से निकलकर नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुये विद्यापीठ चौराहा तक जायेंगे। 0फरवरी को भण्डारे का आयोजन होगा। इस बीच पण्डितों द्वारा चक्र स्नान कराया जायेगाजिसमें भगवान के चल श्री विग्रहों को यमुना के चीर घाट पर स्नान कराया जायेगा। इसके पश्चात् मन्दिर में द्वादश आराधनापुष्पार्चन किया जायेगा। रात्रि में मन्त्रोच्चारों के साथ मन्दिर की 7 परिक्रमा करके मन्दिर के बीच में स्थापित गरुणस्तभ से ध्वजा अवरोहण किया जायेगा। इसके पश्चात सन्त अपने विचार व्यक्त करेंगे। वर्ष में एक बार होने वाले इस आयोजन में शामिल होने के लिये दक्षिण भारत के अलावा देश के कोने-कोने से भक्तजन श्रीधाम वृन्दावन आते हैं। 







कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें