शुक्रवार, 14 फ़रवरी 2020

सूर्य का गोचर हुआ कुम्भ राशि में


हिन्दु पञ्चाङ्ग के अनुसार वर्ष में 12 संक्रान्ति आती हैं। सूर्य देव का गोचर लगभग प्रतिमाह होता है। सूर्य देव के विभिन्न राशियों में गोचर को ही संक्रान्ति कहा जाता है। अब सूर्य ने कुम्भ राशि में प्रवेश किया है तो इसे कुम्भ संक्रान्ति कहा जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जन्म कुण्डली में अच्छे सूर्य की स्थिति व्यक्ति को सरकारी क्षेत्र में नौकरी या लाभ देती है। कुण्डली में सूर्य का उत्तम होना व्यक्ति को रोगों से बचाता है और मान-सम्मान में बढ़ोत्तरी करता है।

ज्योतिषाचार्य और भागवत प्रवक्ता आचार्य रामविलास चतुर्वेदी ने बताया की उत्तम आरोग्य और जीवन प्रदान करने वाले सूर्य देव ने 13 फरवरी, गुरुवार को मध्याह्न 3:18 बजे पर अपने पुत्र शनि की दूसरी राशि कुम्भ में प्रवेश किया है। सूर्य के कुम्भ राशि में गोचर का प्रभाव सभी राशि के जातकों पर पड़ेगा।

सूर्य देव 



कुम्भ राशि में सूर्य के गोचर  का राशियों पर प्रभाव -


मेष - सूर्य देव के गोचर से आमदनी में बढ़ोतरी होगी और लाभ के कई मार्ग दिखायी देंगे। शासन और प्रशासन का सहयोग मिलेगा। व्यापार करने वालों को मुनाफा होगा। शत्रुओं के मुकाबले मजबूत रहेंगे, इसलिये उनकी ओर से कोई परेशानी नहीं होगी। विद्यार्थियों के लिये भी यह गोचर सोने पर सुहागा का काम करेगा और आपको शिक्षा सम्बन्धी बेहतर परिणाम मिलेंगे। सन्तान जीवन में तरक्की करेगी। यदि व्यक्ति किसी प्रेम-सम्बन्ध में हैं तो प्रेम जीवन में इस दौरान खट्टे-मीठे अनुभव प्राप्त होंगे।

उपाय - ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः मन्त्र का जाप करें।

वृषभ -  सूर्य देव के गोचर के प्रभाव से कार्यक्षेत्र में असीमित अधिकार मिल सकते हैं।  प्रभाव बढ़ने के साथ मान-सम्मान मिलेगा और लोगों पर नेतृत्व करने का अवसर प्राप्त होगा। इस दौरान पदोन्नति और वेतन में वृद्धि हो सकती है। सरकारी नौकरी करने वालों को जबरदस्त लाभ होने की सम्भावना है। इसके अतिरिक्त शासन से सहयोग मिलेगा है। किसी सरकारी मकान या सरकारी वाहन का लाभ मिल सकता है। पारिवारिक जीवन अच्छा रहेगा। माता-पिता का आशीर्वाद मिलेगा और पिता के मार्गदर्शन में आप कुछ नया काम भी प्रारम्भ कर सकते हैं। व्यापारिक क्षेत्र में यह समय लाभदायक रहेगा। पूरी तरह से शक्तिशाली बनेंगे और समृद्धि की ओर बढ़ेंगे।

उपाय - रविवार को भगवान विष्णु के मन्दिर में लाल रँग के कपड़े दान करें।


मिथुन - सूर्य देव के गोचर होने से मान-सम्मान की प्राप्ति होगी। समाज में स्थिति बेहतर बनेगी और सामाजिक स्तर ऊँचा होगा। धन का लाभ होगा और कार्यों में सफलता के चलते आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा। सरकारी क्षेत्र से उत्तम लाभ के योग बनेंगे और कुण्डली में अनुकूल दशा होने पर सरकारी नौकरी मिलने की सम्भावना बनेगी। इस गोचर का दूसरा प्रभाव यह भी होगा कि पिता का स्वास्थ्य खराब हो सकता है और उन्हें चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। सामाजिक सरोकार के कार्य में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे और पिता तुल्य व्यक्ति का सहयोग आपके लिये वरदान साबित होगा। भाई-बहनों को लेकर चिन्ता बनी रहेगी और उनकी अच्छायी के लिये प्रयास करेंगे। यात्रायें आपके लिये लाभकारी रहेंगी।

उपाय - रविवार को अन्न दान करें।

कर्क - सूर्य देव के गोचर से मिले जुले परिणाम सामने आयेंगे। एक ओर कोई पैतृक सम्पत्ति प्राप्त होने की सम्भावना बनेगी तो दूसरी ओर पिता का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। कानून के विरुद्ध गलत कार्य करने पर प्रशासन द्वारा दण्डित भी किया जा सकता है। इसके अलावा कोई पुराना राज सामने आने से उसका असर जातक की छवि पर पड़ सकता है। कुछ लोगों को ससुराल पक्ष से आर्थिक लाभ होने की स्थिति भी बनेगी और ससुराल वालों के साथ मिलकर कोई नया काम शुरू कर सकते हैं। जातक और उसके जीवनसाथी का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। व्यापार में निवेश करने के लिये यह समय उचित नहीं है।

उपाय - प्रात: सूर्यदेव को अर्घ्य दें और घृणि सूर्याय नमः मन्त्र का जाप करें।

सिंह - सूर्य देव के गोचर का प्रभाव मुख्य रूप से स्वास्थ्य, व्यक्तित्व और दाम्पत्य जीवन के साथ अन्य गतिविधियों पर पड़ेगा। स्वास्थ्य बेहतर होगा और पुरानी किसी स्वास्थ्य समस्या से मुक्ति मिलेगी। दाम्पत्य जीवन में कुछ समस्यायें सकती हैं। जीवनसाथी के प्रति समर्पित रहकर व्यवहार करेंगे, लेकिन जीवन साथी के स्वभाव में अहम की भावना और गुस्सा बढ़ सकता है, जिससे दाम्पत्य जीवन प्रभावित हो सकता है। व्यापार के क्षेत्र में अनुकूल परिणाम सामने आयेंगे। व्यापार में आशातीत सफलता के योग बनेंगे। समाज में आपको प्रसिद्धि मिल सकती है।

उपाय - रविवार को निर्धन और जरूरतमन्द रोगियों को दवा वितरित करें।


कन्या - विभिन्न प्रकार के न्यायालय से जुड़े मामलों में अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे और आप अपने विरोधियों को धूल चटा देंगे। आपके खर्चों में कमी आयेगी, जिससे आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। कानून के विरुद्ध जाकर कोई भी कार्य करना नुकसानदायक हो सकता है। स्वास्थ्य को लेकर इस दौरान सावधानी बरतनी होगी। मौसमी बुखार परेशान कर सकता है। कुछ लोगों को विशेष यात्रा या विदेश जाने का अवसर मिल सकता है। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के लिये यह समय अत्यन्त शुभ है।

उपाय - रविवार को गुड़ दान करें।

तुला - आर्थिक तौर पर मजबूती मिलने के साथ अनेक प्रकार के लाभ मिल सकते हैं। शासन से लाभ मिलेगा और सरकारी क्षेत्र में काम कर रहे लोगों को अनुकूलता रहेगी। हालांकि कुछ लोगों को इस दौरान स्थानान्तरण का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन स्थानान्तरण के बाद सुखद फल प्राप्त होंगे। प्रेम जीवन को लेकर यह गोचर अधिक अनुकूल नहीं है। प्रेम जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। अपने विवेक से लिये गये निर्णय हितकारी साबित होंगे।

उपाय - प्रतिदिन प्रात: श्री हरिवंश पुराण का पाठ करें।

वृश्चिक - सूर्य देव दिग्बल से हीन हो सकते हैं। परिवार में विशेष तनाव का सामना करना पड़ सकता है। अहम की भावना जाग्रत हो सकती है, जिससे परिवार का वातावरण खराब हो सकता है। माँ से झगड़ा हो सकता है। कार्यक्षेत्र में बेहतर कार्य करेंगे, जिससे सुखद परिणाम मिलेंगे। मान-सम्मान बढ़ेगा और कार्य क्षेत्र में सहकर्मी अच्छे नजरिये से देखेंगे। इस दौरान कुण्डली में अनुकूल दशा होने पर सरकारी क्षेत्र से वाहन या भवन का लाभ होने की सम्भावना है। 

उपाय - प्रतिदिन प्रात: सूर्य स्मरण करें और ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः मन्त्र का जाप करें।

धनु - लोगों से सम्बन्ध मधुर बनेंगे और जो लोग समाज में सम्मानित और ऊँचे पदों पर हैं उनसे अच्छे सम्पर्क का लाभ मिलेगा। आपके भाग्य में बढ़ोत्तरी होगी और भाग्य की कृपा से सभी काम बनेंगे। कोई धार्मिक यात्रा कर सकते हैं, जिससे मानसिक तौर पर मजबूती मिलेगी और शान्ति का अनुभव करेंगे। साहस और पराक्रम में बढ़ोत्तरी भी होगी। निजी प्रयासों के कारण कार्यकुशलता पहले से भी बेहतर होगी। शासकीय क्षेत्र से भी अच्छी सफलता मिलने की सम्भावना है। इस दौरान की जाने वाली यात्रायें व्यक्तित्व को और ऊँचाई प्रदान करेंगी जिससे समाज में लोकप्रियता बढ़ सकती है।

उपाय - प्रतिदिन प्रात: तांबे के पात्र से सूर्यदेव को जल चढ़ायें।

मकर - स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियां उत्पन्न हो सकती हैं और विशेष रूप से तेज बुखार से पीड़ित हो सकते हैं। पित्त सम्बन्धी समस्यायें परेशान कर सकती हैं। अचानक से धन प्राप्ति होने से मन प्रफुल्लित होगा। जीवन में कुछ अच्छे नतीजे भी प्राप्त होंगे। कुछ लोगों को अपने ससुराल पक्ष से भी अच्छे नतीजे मिलेंगे और किसी प्रकार की आर्थिक मदद मिल सकती है। कुछ लोगों को ऐसा धन प्राप्त हो सकता है, जो किसी शासन में रुका हुआ था। कुछ विशेष लोगों को किसी प्रकार का मुआवजा भी मिलने की सम्भावना है। परिवार में किसी बात को लेकर चर्चा का विषय या बहस हो सकती है। वाणी में कर्कशता को कम करने का प्रयास करें।

उपाय - रविवार के दिन तांबे के बरतन दान में दें।

कुम्भ - सूर्य देव के गोचर के प्रभाव से व्यक्तित्व में अनेक प्रकार के बदलाव आयेंगे। आत्मविश्वास की बढ़ोत्तरी होगी और काम बेहतर तरीके से करेंगे। अहम की भावना जाग्रत होगी, जिससे रिश्तों पर असर पड़ेगा। दाम्पत्य जीवन पर इस गोचर का असर नकारात्मक हो सकता है। क्रोध की अधिकता से रिश्तो में कड़वाहट सकती है। व्यापार लाभ मिलेगा। आर्थिक क्षेत्र में सहयोगी का सुझाव अधिक महत्व रखेगा, जिससे व्यापार को आगे बढ़ाने में सफलता मिलेगी। समाज में प्रतिष्ठा बढ़ेगी। स्वास्थ्य अवश्य ही कमजोर होगा।

उपाय - रविवार के दिन बैलों को गुड़ खिलायें।

मीन - सूर्य देव के इस गोचर काल में खर्चों में बढ़ोत्तरी हो सकती है। इस दौरान विदेश जाने में सफल होंगे। अपने विरोधियों से सावधान रहें, हालांकि विरोधी कुछ अहित नहीं कर पायेंगे, लेकिन मानसिक तनाव दे सकते हैं। नौकरी के सिलसिले में किये गये प्रयास सार्थक होंगे और कार्यस्थल पर उत्तम प्रदर्शन करने में सहायता मिलेगी। जो लोग व्यापार करते हैं, उनके व्यापार का विस्तार होगा। कोर्ट-कचहरी के मामलों में धन खर्च करना पड़ सकता है।

उपाय - रविवार को तांबे के बरतन दान करें।


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें