शुक्रवार, 7 फ़रवरी 2020

वृन्दावन में धूमधाम से निकली भगवान राधामाधव की रथयात्रा

वृन्दावन के चैतन्य विहार स्थित राधामाधव दिव्य देश मन्दिर में चल रहे 14 वें ब्रह्मोत्सव के अन्तर्गत भगवान राधामाधव की रथ यात्रा नगर में निकाली गयी। रथ यात्रा का नगर के विभिन्न स्थानों पर भक्तों द्वारा पुष्प वर्षा से स्वागत किया गया।

भगवान राधामाधव की रथयात्रा 


राधामाधव दिव्य देश मन्दिर में प्रात: आचार्यों ने भगवान राधामाधव का पञ्चामृत से अभिषेक किया और नवीन पोशाक धारण कराने के साथ ही शोभायमान शृङ्गार किया। इसके पश्चात् स्वामी अनन्ताचार्य महाराज के सानिध्य में आचार्यों द्वारा गोपुरम द्वार के समीप यज्ञ स्थल में महालक्ष्मी हवन किया गया। शाम को मन्दिर की धर्म परम्परा के अनुसार सुगन्धित पुष्पों से सजे रथ पर पण्डितों द्वारा भगवान राधामाधव के चल विग्रहों को रथ में विराजमान किया गया। बैंड बाजों के साथ भगवान राधामाधव की रथ यात्रा में शामिल भक्तजन भक्ति संगीत की धुनों पर झूम रहे थे। महिलायें सफेद-पीले रँग की साड़ियाँ पहनकर डांडियाँ नृत्य कर रही थीं। आचार्यजन भगवान राधामाधव की स्तुति करते हुये चल रहे थे। नगर के विद्यापीठ चौराहा तक पहुँचने के बाद रथयात्रा पुनः मन्दिर आकर सम्पन्न हुयी।

                                              भगवान राधामाधव की रथयात्रा में शामिल भक्तजन 

मन्दिर के प्रबन्धक देवराज तिवारी ने कहा कि भगवान राधामाधव के 14 वें ब्रह्मोत्सव के पाँचवें दिन परम्परागत महालक्ष्मी हवन, रथ यात्रा और मंगलाशासन किया गया। इस उत्सव में देश के विभिन्न हिस्सों से आये भक्तों ने ही नहीं विदेशी भक्तों ने भी भक्ति का आनन्द लिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें