बुधवार, 4 मार्च 2020

विधवाओं ने भक्ति संगीत के मध्य फूलों की होली खेली

वृन्दावन के चैतन्य विहार स्थित महिला आश्रय सदन में वृन्दावनवास कर रही विधवा और वृद्ध महिलाओं ने बृज रँग महोत्सव धूमधाम से मनाया, जिसमें विधवा महिलाओं ने भक्ति संगीत के मध्य एक-दूसरे को गुलाल लगाकर और फूल वर्षाकर होली की शुभकामनायें दीं। वहीं बृज के कलाकारों ने मयूर नृत्य और फूलों की होली का मंचन किया। 

वृन्दावन में प्रदेश सरकार द्वारा संचालित महिला आश्रय सदन में से एक चैतन्य विहार स्थित आश्रय सदन में रँग महोत्सव में सर्वप्रथम महिलाओं ने एक दूसरे को गुलाल लगाया और होली की बधाइयाँ दीं। इसके पश्चात महिलाओं के मध्य गेंदा, गुलाब के फूलों को एक दूसरे पर बरसाकर फूलों की होली खेली। कई सालों से अपने घरों और परिवार से दूर वृन्दावन में एकाँकी जीवन व्यतीत कर रही महिलाओं के चेहरे होली खेलने के दौरान खिल उठे। महिलाओं ने फूलों की होली खेलने के साथ ही भगवान राधाकृष्ण की लीलाओं का मंचन किया। इस मंचन के दौरान विधवा महिलाओं का आपसी संवाद बांग्ला भाषा में था। बृज की होली के उल्लास में महिलाओं ने होली पर आधारित भजन और लोक गीत विभिन्न भाषाओं में प्रस्तुत किये। इसके पश्चात बृज के कलाकारों ने मयूर नृत्य, फूलों की होली का मंचन किया। इस दौरान राधाकृष्ण और गोपियों के स्वरूपों को देखकर विधवा महिलायें भावविभोर हो गयीं और नृत्य करने लगी। 

महिला आश्रय सदन में बृज रँग महोत्सव के समापन पर जिला प्रोवेशन अधिकारी अनुराग श्याम रस्तोगी ने सभी का आभार व्यक्त किया।   

  

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें